भारतीय रेल परिवहन दिवस महत्‍वपूर्ण तथ्‍य – Indian Railway Transport Day

By | May 8, 2021
भारतीय रेल परिवहन दिवस महत्‍वपूर्ण तथ्‍य - Indian Railway Transport Day

16 अप्रैल 1853 को भारत में मुंबई से ठाणे के बीच पहली रेल चली थी इस दिन भारतीय रेल परिवहन दिवस भी मनाया जाता है| 16 अप्रैल का दिन भारतीय रेलवे के इतिहास का बहुत महत्‍वपूर्ण दिन है|

आईये जानते हैं भारतीय रेल परिवहन दिवस महत्‍वपूर्ण तथ्‍य Indian Railway Transport Day

भारतीय रेल परिवहन दिवस महत्‍वपूर्ण तथ्‍य


भारत के इतिहास में 16 अप्रैल का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इसी दिन भारत में रेलवे परिवहन की शुरूआत हुई थी| 16 अप्रैल को पहली बार महाराष्ट्र प्रांत के मुंबई से थाणे के बीच लगभग 33 किलोमीटर के बीच पहली बार रेलगाड़ी चली।

भारतीय रेल एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है और एकल सरकारी स्वामित्व वाला विश्व का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है| भारतीय रेल में विश्व में सबसे अधिक कर्मचारी काम करते हैं|

यहां 1300000 से भी अधिक कर्मचारी हैं  यानी है विश्व का सबसे बड़ा नियोक्ता भी है| यह भारत का सार्वजनिक क्षेत्र का सबसे बड़ा उपक्रम है|

भारतीय रेल के इतिहास


भारत में पहली बार रेलवे की शुरुआत 1944 भारत के गवर्नर लॉर्ड हार्डिंग के समय में हुई थी| जब निजी कंपनियों को रेल निर्माण के क्षेत्र में रुचि दिखाई थी बाद में सन 1951 में इस क्षेत्र में कुछ और कार्य किया गया|

लेकिन 16 अप्रैल 1853 को पहली बार भारत में रेल परिवहन संभव हो सका यानी बॉम्बे से ठाणे तक लगभग 33 किलो मीटर भारत की पहली रेल चली इस दिन को भारतीय रेल परिवहन दिवस के रूप में मनाया जाता है|

भारतीय रेलवे में 1,21,407 किमी का ट्रैक और 67,368 कि.मी. का मार्ग है जिस पर 8000 से ज्यादा स्टेशन बने हुए हैं| भारत के पहले रेल मंत्री असफ अली थे जिन्हें 2 सितंबर 1946 को नियुक्त किया गया था|

देश की पहली ट्रेन रेड हिल रेलवे (Red Hill Railway), 1837 में मद्रास में रेड हिल्स से चिंतद्रिपेट पुल तक चलाई गई थी|भारतीय रेलवे विश्व का आठवां सबसे बड़ा, ASIA का तीसरा सबसे बड़ा नियोक्ता ( employer) है, जिसके 14 लाख से भी अधिक कर्मचारी हैं|

श्री लाल बहादुर शास्त्री ने भारत के रेल मंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया था| पहली रेलरोड दो भारतीयों – जगनाथ शंकर्सथ (Jaganath Shunkerseth ) और जमशेदजी जीजीभाय (Jamsetjee Jeejeebhoy) द्वारा बनाई गई थी|

भारत की पहली लंबी दूरी की इलेक्ट्रिक ट्रेन: डेक्कन क्वीन 1930 में बॉम्बे और पुणे के बीच चलाई गई थी| पहला रेल बजट 1925 में प्रस्तुत किया गया था|

हमे उम्मीद हैं कि उपरोक्त दिए गए तथ्य आपके रेलवे के एग्जाम की तैयारी में मदद करेंगे और आपके सामान्य ज्ञान को भी बढ़ाएंगे|

You may also read: भारत के बारे में रोचक/महत्‍वपूर्ण तथ्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *