भारतीय करंसी नोटों के बारे में 10 महत्वपूर्ण और रोचक तथ्‍य – 10 Facts About Indian Currency Note in Hindi

By | January 4, 2021
भारतीय करंसी नोटों के बारे में 10 महत्वपूर्ण और रोचक तथ्_य - 10 Facts About Indian Currency Note in Hindi

हर देश की अपनी करेंसी यानि मुद्रा होती है। जिससे दैनिक जीवन में ख़रीद और बिक्री होती है भारत में भी अपनी मुद्रा है जिसे आप भारतीय रूपया के नाम से जानते हैं| भारत में करंसी का इतिहास 2500 साल पुराना हैं। इसकी शुरूआत एक राजा द्वारा की गई थी।

अगर अंग्रेजों का बस चलता तो आज भारत की करंसी पाउंड होती. लेकिन रुपए की मजबूती के कारण ऐसा संभव नही हुआ। भारतीय रुपया भारत की राष्ट्रीय मुद्रा है आईये जानते हैं भारतीय करंसी नोटों के बारे में महत्वपूर्ण और रोचक तथ्‍य – Facts About Indian Currency Note

  1. इसका बाज़ार नियामक और जारीकर्ता भारतीय रिज़र्व बैंक है।
  2. भारतीय रूपया का प्रतीक-चिह्न  है जिसे आईआईटी, गुवाहाटी के प्रोफेसर डी. उदय कुमार ने डिज़ाइन किया है। भारत में इसे आधिकारिक प्रतीक-चिह्न के तौर पर दिनांक 15 जुलाई, 2010 को अपनाया गया था, विश्‍व भर में केवल पाँच देशाेेंं की मुद्राएँ ऐसी हैं जिनके प्रतीक-चिह्न हैं
  3. ISO 4217 द्वारा भारतीय रूपया तीन-अक्षरीय मुद्रा कोड (Three Letter Currency Codes) INR बनाया गया है अन्‍तराष्‍ट्रीय बाजार में इसी कोड (INR) से ही भारतीय मुद्रा की पहचान होती है
  4. भारत में वर्तमान में 10 रु, 50रु, 100 रु, 200 रु, 500 रु तथा 2000 रु  के नोट छपते हैं
  5. सन 1994 से पहले एक रूपये का भी नोट चलन में था
  6. भारत में 5000 और 10000 के नोट भी जारी हो चुके हैं जो 1954 से लेकर 1978 तक चलन में थे
  7. भारत में अब तक दो बार विमुद्रीकरण (नोटबंदी) किया जा चुका है, पहला सन् 1978 में भारत के चौथ्‍ो प्रधानमंञी मोरारजी देसाई के द्वारा और दूूसरा सन् 2016 में भारत के पंद्रहवेंं प्रधानमंञी नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया है
  8. महात्मा गांधी(Mahatma Gandhi) की जो तस्वीर भारतीय नोट पर अंकित की जाती  है वह तस्वीर उस समय की है जब गाँधी जी तत्कालीन बर्मा और भारत के ब्रिटिश सेकेट्री के रूप में कार्यरत फ्रेडरिक पेथिक लोरेन्स (Frederick Lawrence Pethick) के साथ कलकत्ता स्थित वायसराय हाउस  (Viceroy’s House) में मुलाकात की थी
  9. भारतीय करंसी पर हिंदी और अंग्रेजी भाषा के अलावा नोटों पर दूसरे कुल 15 भाषाओं का इस्तेमाल होता है
  10. भारतीय बैंक नोटों में 9 से भी ज्‍यादा सुरक्षा विशेषताएँ जुडी होती है ताकि नकली नोट ना बनाया जा सके, भारत में जाली नोट छापना और चलानेे पर भारतीय दण्ड संहिता की धाराओं 489ए से 489इ के अंतर्गत सजा दी जाती हैै

अगर आप इस भारतीय करंसी नोटों के बारे में 10 महत्वपूर्ण और रोचक तथ्‍य के बारे में और कोई जानकारी चाहते हैं तो आप कमेंट बॉक्स मे कमेंट कर सकते है। और आप अपने विचार का सुझाव भी कमेंट बॉक्स मे दे सकते है। कृपया इस पोस्ट को शेयर करे, ताकि यह सभी जनरल नॉलेज नोट्स(General knowledge notes) पढ़ सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.