प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना, की सम्पूर्ण जानकारी 2020

By | August 2, 2020
Pradhanmantri Sukshma Khadya Udyog Unnayan Yojana

जैसा कि हम सभी जानते हैं, सरकारश्री द्वारा देश में बहुत सी योजनाएं चलाई गई है| तो दोस्तों, हम आज आपको प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के बारे में बताएंगे|

Pradhanmantri Sukshma Khadya Udyog Unnayan Yojana

इस योजना से भारत देश छोटे और बड़े व्यापारी व्यवसाय को आगे बढ़ाने और आय बढ़ाने के लिए काम करेंगे।  इस योजना से जहां छोटी इकाइयों की समृद्धि के नए द्वार खुलेंग, वहीं यह योजना सूक्ष्म उद्योगों को बढ़ावा देने में यथार्थ साबित होगी|

केंद्रीय मंडल में 10 हजार करोड़ का व्यय इस योजना के अंतर्गत तय किया गया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्ने इस योजना के वित्तीय प्रबंधन के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि योजना का वित्तपोषण भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा 60:40 के अनुपात में किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत ऋण से जुड़ी सारी मदद सब्सिडी द्वारा 200000 भाग में बांट दी जाएगी। इस योजना में शुरुआती तौर पर 400000 की एचएसजी(HSG) दी जाएगी। योजना के अंतर्गत खाद्य चीजों की ब्रांडिंग बनाने की प्रक्रिया पैकेजिंग और बुनियादी ढांचा सभी का अनुदान प्रदान किया जाएगा। इसी योजना के अंतर्गत व्यवसायी को प्रशिक्षण यानी कि की स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी।

2020 प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना क्या है और इसका उद्देश्य क्या है

पीएम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा छोटे और लघु व्यवसाय करने वाले उद्यमियों को अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने और अपने राजस्व को बढ़ाने के लिए एक सब्सिडी के तौर पर रकम देने का प्रावधान किया गया है।

व्यवसायी अपने व्यवसाय और खाद्य वस्तुओं में सुधार कर सके इसके लिए उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिसका खर्चा सरकार द्वारा उठाया जाएगा। सरकार द्वारा यह योजना लोगों के रोजगार प्रदान कराने के उद्देश्य से भी की गई है यदि उद्योगों का विकास होगा कि नौकरी के अवसर प्रदान किए जा सकेंगे।

हम आशा करते हैं कि आप समज गए होंगे, इस प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के बारे में। और अब चलिए जानते इसके उद्देश्य क्या क्या है|

इस योजना के अंतर्गत खाद्य पदार्थों में गुणवत्ता और सुरक्षा की चीजों का ध्यान रखा जाएगा।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना का मुख्य उद्देश्य उद्योगों का राजस्व बढ़ाना है

इस योजना मे व्यक्ति जिले में लघु वन उत्पादन का भी ध्यान रख सकेगा।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना लोगों को ज्यादा रोजगार के अवसर मिल सके।

इस योजना से महिला उद्योगपति को जिले पर का ध्यान रखा जाएगा।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना कुछ के लाभ

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना के लाभ

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना के अंतर्गत छोटे और बड़े उद्योगपति दोनों भाग ले सकते हैं।

सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना के तहत व्यक्ति अपने व्यवसाय का आय भी बड़ा सकेगा।

इस योजना के अधीन लोगों को अपने व्यवसाय को बढ़ाने यह तो सब्सिडी के तौर पर सरकार द्वारा रकम दी जाएगी।

और इस प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना लोगों को सही खाद्य चीजें मिल पाएगी

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना के अंतर्गत महिला व्यवसायी भी भाग ले सकते हैं।

इस योजना के अंतर्गत ज्यादा लोगों को रोजगार के अवसर मिल जाएंगे।

इस योजना में मुख्य तौर से खाद्य चीजों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सुरक्षित खाद्य सामग्री प्रदान की जाएगी।

Pradhanmantri Sukshma Khadya Udyog Unnayan Yojana की मुख्य विशेषता

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाएगी।

इस योजना को 2020-21 मई चालू किया जाएगा और यह योजना 2024-25 तक यानी कि 5 साल तक चलेगी।

योजना में भारत सरकार और राज्य के द्वारा 60:40 अनुपात रखा जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत खराब होने वाली चीजों को अलग किया जाएगा और विशेष रूप से अनपढ ध्यान दिया जाएगा।

योजना के अंतर्गत समूह दृष्टिकोण रखा जाएगा।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद उद्योग उन्नयन योजना 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन, Apply कैसे करें।

अभी इस योजना की वेबसाइट सरकार द्वारा लांच नहीं की गई है जिससे व्यक्ति अभी इस योजना में शामिल नहीं हो पाएगा। सरकार द्वारा इस योजना के ऑनलाइन आवेदन पोर्टल जल्दी चालू कर दिया जाएगा जिसकी सूचना आपको हमारी वेबसाइट पर जल्दी अपडेट कर दी जाएगी।

इसलिए हमारे साथ बने रहें|

One thought on “प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना, की सम्पूर्ण जानकारी 2020

  1. Rajan

    Thanks for providing प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना information.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.