PM Kisan Samman Nidhi Yojana Online Registration 2020 @ pmkisan.gov.in

By | August 3, 2020
PM Kisan Samman Nidhi Yojana Online Registration 2020 @ pmkisan.gov.in

PM Kisan Yojana (किसान सम्मान निधि योजना)

जेसके के हम जानते देश के किसानों की हालत कितनी खराब है यह तो हम सभी जानते हैं, सूखा, बाड़ कटाई के समय बरसात ऐसे में बहुत से किसान आर्थिक मार से जूझते दिखाई देते हैं, ऐसे ही किसानों के लिए, केद्र सरकार द्वारा साल 2019 में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरूआत की गई थी।

इस योजना का ज्यादा से ज्यादा किसानों को लाभ पहुंचे इसके लिए सरकार ने एक वेबसाइट भी बनाया हुआ है। इसके जरिए सभी किसान रजिस्ट्रेशन सकते हैं।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत छोटे और सीमांत किसानों को सरकार की तरफ से लाभकर मदद देने का ऐलान किया गया था।

PM Kisan Yojana: प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों यानिकि किसनो को सालाना 6 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है। सरकार यह मदद 2-2 हजार रुपये की तीन किस्त के जरिए लाभार्थी किसानों के खाते में ट्रांसफर करती है।

PM Kisan Yojana क्या है

पीएम किसान योजना देश के लघु और सीमांत किसानो को आर्थिक लाभ देने के लिए किया गया हे| इस योजान के तहत लाभार्थियों को 6000 रूपए की सालाना मदद की जाएगी। योजना से मिलने वाली रकम तीन भाग में दी जाएगी। जैसे कि हम सब जानते हे यह योजना किसानों के लिए लाभदायी साबित हो रही हैं|

किसान सम्मान निधि योजना का लाभ केवल छोटे और सीमांत किसानों को होगा। योजना का लाभ 14 करोड़ से ज्यादा किसान उठा सकते हैं

इन कोरोना संकट के चलते यह योजना किसानों के लिए और भी प्रभावी साबित हो रही है। जो किसान भाई अपना जी जान लगाकर हम सब के लिए अन्न उगाते हैं और हमें हमारे घर तक पहुंचाते हैं, उनके लिए ऐसी किसी योजना का होना जरुरी था। जिन किसानों भाई  ने अभी तक पंजीकरण नहीं कराया है वो Kisan Samman Nidhi Online registration के लिए इस योजना को पूरा पढ़ें|

किसान सम्मान निधि योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले ही योजनाएं चलाई जिससे किसान और व्यवसायी अपने आप को मजबूत कर सकें और उन्हें सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता भी मिल सकें. इस योजना का उद्देश्य सिर्फ किसानों को आर्थिक सहायता देना हे, क्योकि किसान के मौसम की मार पड़ जाने या जरूरी सुविधाओं के चलते इनकी फसल खराब हो जाती है|

पीएम किसान योजना के लाभ

  • योजनाके जरिए किसानों की आजीविका सुधारने में मदद मिलेगी
  • सरकार 2 हजार रुपये की तीन किस्त के जरिए लाभार्थी किसानों के खाते में ट्रांसफर किए जाएंगे, यानिकि साल के टोटल ६००० रुपये
  • पीएम किसान योजना में आवेदन करने वाले लाभार्थियों को अगले 5 साल तक 6000 रूपए सालान दिए जाएंगे

Note:

  • अगर कोई व्यक्ति डॉक्टर इंजीनियर, आर्किटेक, और किसी तरह के प्रोफेशनल डीग्री है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  • जो व्यक्ति रिटायर हो चुका है और 10000 हजार या उससे ज्यादा पेंशन लेता है। वह भी इस योजना का लाभ नहीं ले सकता
  • म्यूनसिपल कॉरपोरेशन के मेयर या पूर्व मेयर भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

ऑनलाइन आवेदन के लिए पात्रता एंव दस्तावेज

  • जमीन के कागजात होने अनिवार्य हैं, (खसरा, खतौनी)
  • पहले इस योजना में केवल 2 हेक्टेयर यानी 5 एकड़ को शामिल किया जाता था, लेकिन अब इस योजना में सभी किसानो को शामिल कर लिया गया
  • योजना में आवेदन करने वाले किसान के आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, बैंक खाता पासबुक, और पासपोर्ट साइज फोटो

किसान सम्मान निधि (Pm Kisan Samman Nidhi) ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एप्लीकेशन फॉर्म

  • सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाना होगा।
  • Step 1: इसके बाद आपको “Farmers Corner” सेक्शन में जाना होगा, नीचे दी गई फोटो देखें|

pm svanidhi yojana online apply

  • Step 2: “New Farmer Registration” ऑप्शन पर क्लिक करें

pm kisan adhar

  • Step 3: आपसे आधार नंबर माँगा जायेगा। आधार नंबर डालने के बाद इमेज कोड दर्ज करें और “Click Here to Continue” पर क्लिक करें

apply for pm kisan samman yojana

  • Step 4: अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जिसमें आपको Kisan Samman Nidhi Registration Form दिखाई देगा। इस फॉर्म को पूरा भरना होगा। फॉर्म भरने के बाद आपको सेव करने के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • Step 5: इसके बाद आपके सामने एक अन्य पेज खुलेगा जिसमे आपसे जमीन के दस्तावे जो से संबंधित जानकारी भरनी होगी।
  • Step 6:इसमें खसरा नंबर और खाता नंबर दर्ज करना होगा।
  • Step 7:इसके बाद आपको सेव के विक्लप पर क्लिक करना होगा, और इस तरह आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।
  • अपना रजिस्ट्रेशन नंबर, रिफरेन्स नंबर संभाल कर रखें

Leave a Reply

Your email address will not be published.