जानें क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के बारे में – Know about Regional Rural Banks

By | April 30, 2021
जानें क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के बारे में - Know about Regional Rural Banks

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की स्‍थापना अधिनियम 1976 के तहत हुई है| क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (Chattriya Garmin Bank) की स्‍थापना का मुख्‍य उद्देश्‍य दूर-दराज के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों तक भारत में बैंकिंग सुविधा पहुॅचाना है|

तो आइये जानें क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के बारे मे   – Know about Regional Rural Banks

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक


सबसे पहले क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की स्‍थापना 2 अक्‍टूबर 1975 में हुई थी| देश का पहला क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक प्रथम बैंक बना शुरूआत में केवल पॉच क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की स्‍थापना की गई थी|

आज क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक सिकिक्‍म और गोवा को छोडकर स‍भी राज्‍यों में कार्यरत हैं इन बैंकों का मुख्‍य उद्देश्‍य उन स्‍थानों पर समाज के कमजोर वर्ग के लोगों को रियायती दर पर संस्‍थागत ऋण उपलब्‍ध कराना है साथ ही ये ग्रामीण बचत को जुटाकर अत्‍पादक गतविधियों में लगाने का प्रोत्‍साहन देती है|

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की पूॅजी में केन्‍द्र व राज्‍य सरकार का हिस्‍सा 50% व 15% होता है और शेष 35% प्रवर्तक बैंकों का होता है|  वर्ष 1987 के बाद से कोई भी नया क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक नहीं खोला गया है| इस समय देश मेें कुल 57 (2015 तक) क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक कार्यरत हैं|

आज भी भारत की आबादी का एक बड़ा हिस्सा देश के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहता है। इनमें से अधिकांश लोग कृषि, लघु और कुटीर उद्योग या ग्रामीण आवश्यकताओं से जुड़े छोटे व्यवसायों से जुड़े हैं।

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक ग्रामीण क्षेत्र की ज़रूरतों के अनुरूप ऋण एवं अन्य बैंकिग सेवाएँ उपलब्ध करा कर तथा सरकार की योजनाओं के माध्यम से इस आबादी को देश के आर्थिक तंत्र से जोड़ने का काम करते हैं।

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक सम्‍बन्‍धी प्रमुख समितियॉ


  • दांतेवाला समिति (Dante Wala Committee) – ये क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के संगठन और कार्यों में संशोधन करके इनकी संरचना को और अच्‍छा करने का सुक्षाव दिया
  • क्रेफिकार्ड समिति (Kreficord Committee) – इस समिति ने ग्रामीण साख को सुदृढ करने में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के महत्‍व को रेखांकित किया समिति के अनुसार ग्रामीण क्षेत्राेें में बहुउद्देशीय एजेंसी के रूप मेें क्षेत्रीय ग्रमीण बैंकों की भूमिका बढाई जाए
  • खुसरो समिति (Khusro Committee)  – इस समिति ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की कार्यप्रणाली को महत्‍व दिया बैकिंग सेवाओं को क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों ने दूरदराज क्षेत्र में ले जाने का उल्‍लेखनीय कार्य किया
  • केलकर समिति (Kelkar Committee) – इस समिति ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के उद्देश्‍यों की पुन: समीक्षा की तथा अपनी सिफारिश में प्रत्‍येक क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के पूॅजी आधार को बढाने का सुक्षाव दिया

दोस्तों ! हमें उम्मीद है कि हमारा ये क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक का लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। अगर आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव है तो हमें कमेंट में जरूर बताएं। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों व सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.